कोरोनावायरस: केरल में 81000 शिक्षकों को ऑनलाइन प्रशिक्षण दिया जाएगा

आवश्यकता अविष्कार की जननी होती है। यह पुरानी कहावत तब सच साबित हुई, जब केरल इन्फ्रास्ट्रक्चर एंड टेक्नोलॉजी फॉर एजुकेशन ने शनिवार को राज्य के 81000 से अधिक प्राथमिक शिक्षकों को ऑनलाइन मोड में विशिष्ट आईटी प्रशिक्षण देने का फैसला लिया। इस प्रशिक्षण को 11,274 स्कूलों में लागू किया जाएगा।

डिजिटल मेकेनिज्म का इस्तेमाल करके भारत में पहली बार बहुत ही कम समय में इतने बड़े स्तर पर शिक्षकों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। केआईटीई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी के. अनवर सादात ने कहा कि 1000 से अधिक केंद्रों को तीन बैचों में यह प्रशिक्षण दिए जाने की योजना बनाई गई है, जिसमें प्रत्येक केंद्र में 25 शिक्षक और दो प्रशिक्षक होंगे।

उन्होंने आगे कहा कि कोरोनावायरस की रोकथाम के लिए सभी स्कूलों को बंद किया गया है, इसलिए हम स्कूलों में सभी उच्च तकनीक सुविधाओं का प्रभावी उपयोग करके इस प्रशिक्षण को पांच दिनों के भीतर पूरा करेंगे। इस प्रशिक्षण को ऑनलाइन मोड में संपन्न किया जाएगा।”

18 मार्च से 27 मार्च तक अंग्रेजी भाषा की निपुणता में सुधार के लिए ‘इन्जॉय, इन्हेंस एंड इनरिच इंगलिश’ कार्यक्रम चलेगा। भले ही शिक्षण संस्थान बंद हैं, लेकिन शिक्षकों को स्कूल आना पड़ेगा।

सादात ने आगे कहा कि विशेष आईटी प्रशिक्षण को आवश्यक सपोर्ट फाइलों, वीडियो ट्यूटोरियल और अन्य संसाधनों के समावेश के साथ व्यवस्थित किया गया है। शिक्षक इस प्रशिक्षण में भाग लेने के लिए उपलब्ध संसाधनों का उपयोग करके खुद से पढ़ सकते हैं, या ग्रुप स्टडी कर सकते हैं।